11:02 PM | Sunday, April 14, 2024
lang logo

रीसेंट आर्टिकल्स

जम्मू: जन्म के साथ बच्चे का बनेगा आधार, सभी अस्पतालों में लागू होगी यह योजना

आधार का दायरा बढ़ाने के लिए अब जन्म के साथ ही बच्चे को आधार के साथ जोड़ दिया जाएगा। यह योजना जम्मू-कश्मीर के सभी अस्पतालों में लागू होगी।

सरकारी और निजी अस्पतालों में भी योजना को लागू करने के लिए गुरुवार को स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव मनोज कुमार द्विवेदी और उप महानिदेशक, विशिष्ट पहचान प्राधिकरण भावना गर्ग ने श्रीनगर में संयुक्त रूप से नागरिक सचिवालय में बैठक किया। इसमें जम्मू और कश्मीर में नागरिक पंजीकरण प्रणाली के माध्यम से अस्पतालों में आधार से जुड़े जन्म पंजीकरण के मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की।

Read: NEW YEAR 2023: नए साल पर मंदिरों में लगी भीड़

- Advertisement -
जम्मू -कश्मीर में आधार से जुड़े जन्म पंजीकरण

बैठक में प्रमुख सचिव ने संबंधित अधिकारियों को जम्मू-कश्मीर में आधार से जुड़े जन्म पंजीकरण और नागरिक पंजीकरण प्रणाली को पूरी तरह से लागू करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कार्यक्रम को सफल तरीके से लागू करने के लिए सभी तकनीकी औपचारिकताओं को पूरा करने पर जोर दिया और उन्हें जल्द से जल्द जम्मू-कश्मीर में पोर्टल उपलब्ध करवाने और सुलभ बनाने के लिए भारत के रजिस्ट्रार जनरल के साथ मामले काे उठाने के लिए कहा।

- Advertisement -

उन्होंने कर्मचारियों के प्रशिक्षण, आवश्यक उपकरणों की खरीद और इस काम के लिए प्रशिक्षित किए जाने वाले कर्मचारियों की पहचान जैसे कार्यक्रमों की स्थिति और प्रगति के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने अधिकारियों को कर्मचारियों का प्रशिक्षण शुरू करने की सलाह दी ताकि जम्मू-कश्मीर में पूरी प्रक्रिया निर्धारित समय सीमा के भीतर शुरू हो जाए।

- Advertisement -

उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि आवश्यक बुनियादी ढांचा तैयार किया जाये और कोई कमी है तो उसे पेश किया जाना चाहिए।

जम्मू -कश्मीर में आधार से जुड़े जन्म पंजीकरण

उन्होंने अधिकारियों को इस योजना के तहत सभी संबधित अस्पतालों, जिला अस्पतालों, कम्यूनिटी हेल्थ सेंटरों, प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों और निजी अस्पतालों को कवर करने का भी निर्देश दिया।

बैठक के दौरान भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के उप महानिदेशक ने कहा कि कार्यक्रम नवजात शिशुओं को एक विशिष्ट पहचान प्रदान करेंगे।

उन्होंने विस्तार से बताया कि एएलबीआर बच्चे के जन्म के समय आधार से जुड़ा जन्म पंजीकरण है और नागरिक पंजीकरण प्रणाली के साथ इसका एकीकरण जन्म पंजीकरण की प्रक्रिया को तत्काल और परेशानी मुक्त बना देगा। बैठक में इस प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के तरीकों पर विचार-विमर्श किया गया।

Read: बांद्रा टर्मिनस-जोधपुर सूर्यनगरी रेल एक्सप्रेस पटरी से उतरी

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

रिलेटेड आर्टिकल्स

Latest Posts

जरुर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: राजौरी में IED ब्लास्ट में 2 बच्चों की मौत, 4 लोग घायल

Rajouri IED blast: जम्मू-कश्मीर के डांगरी गांव में संदिग्ध आतंकवादी हमले के पीड़ितों में से एक के घर के पास सोमवार को एक आईईडी...

लोकायुक्त लोहरा ने मिश्र को वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया

Lokayukta Lohra, जयपुर : राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र से सोमवार को राजभवन में लोकायुक्त प्रताप कृष्ण लोहरा ने मुलाकात की। लोकायुक्त लोहरा ने ...

जौनपुर में पीएम आवास के अपात्रों को क़िस्त देने वाले तीन ग्राम विकास अधिकारी निलम्बित

जौनपुर , 01दिसंबर (वार्ता): जौनपुर जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत अपात्रों को किस्त देने के आरोप में तीन ग्राम विकास अधिकारियों को...

मध्यप्रदेश: वरिष्ठ IPS अधिकारियों के तबादले

अधिकारियों के तबादले, 02 दिसंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश सरकार ने आज भारतीय पुलिस सेवा के चार वरिष्ठ अधिकारियों के तबादला आदेश जारी कर विशेष पुलिस...

खरगोन में गोली मारने के मामले में आरोपी को सजा

खरगोन, 01 दिसंबर (वार्ता) : मध्यप्रदेश के खरगोन स्थित एक न्यायालय ने बगीचे में संतरा तोड़कर खा रहे व्यक्ति को गोली मारकर घायल कर...

संपर्क में रहे

सभी नवीनतम समाचारों, ऑफ़र और विशेष घोषणाओं से अपडेट रहने के लिए।

सबसे लोकप्रिय